कन्या सुमंगला योजना क्या हैं [Kanya Sumangala Yojana]

कन्या सुमंगला योजना क्या हैं  [Kanya Sumangala Yojana]

https://www.paltuji.com
https://www.paltuji.com 
     भारत में लड़कियों को आज भी बोझ समझा जाता है कई मौकों पर लड़कियों को पैदा होने से पहले गर्भ में ही उन्हें मार दिया जाता है। परिवार की आर्थिक तंगी की वजह से अधिकांश लड़कियां अपनी आगे की पढाई  नहीं कर पाती हैं। इसी वजह से उत्तर प्रदेश ने कन्या सुमंगला योजना की शुरूआंत की है। इस योजना के तहत लड़कियों को शिक्षा के साथ-साथ उनके अच्छे स्वास्थ्य एवं भविष्य को भी सुनिश्चित कराया जायेगा। 
कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत जन्म से लेकर उनकी शादी होने तक 6 चरणों में सरकार की तरफ से  आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी। इससे प्रदेश में बाल विवाह जैसी कुप्रथा को भी समाप्त करने में बल मिलेगा। 

1. सबसे पहले बच्ची के जन्म के समय 2000 रूपए प्रदेश सरकार बच्ची के मां खाते में सीधे जमा करेगी। 

2. एक साल का टीकाकरण पूर्ण होने के बाद 1000 रूपये दूसरी किस्त के रूप में दिए जायेंगे।

3.  आपकी बच्ची जब पहली कक्षा में प्रवेश लेगी तब उसे 2000 रूपये तीसरी किस्त के तौर पर दिए जायेंगें। 

4. अगली बार 2000 रुपये यानी चौथी किस्त छटवीं में दाखिला होने पर दिए जायेगें। 

5. इसी तरह नौवीं में प्रवेश करने पर 3000 रूपए की सहायता राशि सरकार की तरफ प्रदान की जायेगी। 

6. स्नातक या 2 साल का कोई डिप्लोमा अथवा कोर्स आदि करने पर 5000 रूपए एक मुस्त दिये जायेंगें 

     इस तरह इस योजना से प्रत्येक बालिका को कुल 15 हजार रूपए लाभ प्राप्त होगा जिससे वह अपनी पढ़ाई बिना किसी आर्थिक तंगी के पूर्ण कर पायेगी और परिवार पर भी बोझ नहीं बनेगी। इन चरणों में सरकार लड़की के नाम पर पैसा उसके या उसके अभिभावकों के बैंक अकाउंट में जमा करेगी। इस योजना के तहत सरकार की तरफ से 1200 करोड़ का बजट तय किया गया है, जो इस योजना के विकास कार्य में लगाया जायेगा। लड़की के जन्म के बाद अभिभावकों को 6 महीने के अंदर अपनी बिटिया का नाम इस योजना में रजिस्टर करना जरूरी है अन्यथा उन्हें इस योजना का लाभ प्राप्त नहीं होगा। 

योजना में शामिल होने के लिए जरूरी बातें। 

https://www.paltuji.com
https://www.paltuji.com 
1. लाभार्थी का परिवार उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी हो तथा उसके पास स्थाई निवास प्रमाण पत्र हो जिसमे राशन कार्ड, आधार कार्ड , वोटर पहचान पत्र , बिजली या टेलीफोन बिल मान्य होगा! 

2. लाभार्थी के परिवार की वार्षिक आय तीन लाख रुपये से ज्यादा नहीं होनी चाहिए! 

3. एक परिवार की अधिकतम दो बच्चियों को ही इस योजना का लाभ मिल पायेगा। यदि किसी महिला को दूसरे प्रसव के बाद जुड़वाँ बच्चे होने पर तीसरी संतान के रूप में लड़की हुई है तो वह भी इस योजना की पात्र मानी जायेगी। 

4. यदि किसी परिवार ने अनाथ बालिका को गोद लिया है तो परिवार की जैविक संतानों तथा विधिक रूप में गोद ली गई संतानों को सम्मिलित करते हुए अधिकतम दो बालिकाएं इस योजना की लाभार्थी होंगी।

यूपी कन्या सुमंगला योजना में आवेदन लिए जरूरी कागजात

https://www.paltuji.com
https://www.paltuji.com 
1. राशन कार्ड (जिसमें बालिका का नाम दर्ज हो)

2. आधार कार्ड (माता-पिता अभिभावक का यदि उपलब्ध हो तो बालिका का) PAN कार्ड Voter ID Driving Licence Passport बैंक पासबुक

3. परिवार की वार्षिक आय के संबंध मे स्व-सत्यापन। (Self Certified Income Certificate )

4. बालिका का नवीनतम फोटो। (Child’s Photo)

5. बालिका/माता पिता का बैंक पासबुक 

6. यदि कोई बच्ची गोद  ली हुई है तो उसका प्रमाणपत्र (यदि लागू हो)

7. बालिका का जन्म प्रमाणपत्र। 

8. बालिका का एक वर्ष का टीकाकरण का कार्ड। 

9. स्कूल में दाखिले का सर्टिफिकेट। 

10. बच्ची के साथ माता-पिता का नवीनतम फोटो। 

पंजीकरण के लिए अधिकृत वेबसाइट या नजदीकी CSC सेंटर पर जाकर अपना आवेदन करा सकते हैं। कोई भी समस्या आने पर हमें कमेंट करें हम आपकी पूरी सहायता करेंगे। PRACTICAL LIFE








Previous
Next Post »