मैं चाहता हूं तुम्हारी आंखें एक्सरे की किरण की तरह लोगों के भीतर देखना शुरूं कर दें! सत् संदेश।

बहुत से रास्ते ऐसे हैं जिन्हें तुम्हें सिर्फ अकेले ही तय करना है, जहां न कोई संगी होगा न साथी होगा।

https://www.paltuji.com
https://www.paltuji.com 
     जिनका ह्रदय पवित्र है, जो मन से निर्मल है! वे चाहे सम्राट ही क्यों न हों, फिर भी लोग उन्हें देना चाहते हैं। तुम मन्दिर जाती हो, वहां भगवान को दो चार रुपये चढ़ा आती हो! क्या तुम्हें लगता है उसके पास कुछ कमी होगी? क्या वह तुम्हारे दो चार रुपयों का भूखा होगा। वह भी तुमसे कह सकता है कि मेरे पास बहुत है। लेकिन वह देखता है तुम्हारे ह्रदय की पवित्रता को, तुम्हारी आंखों में बसे उसके प्रति प्रेम को, इसलिए मौन हो जाता है, कुछ कहता नहीं है बस स्वीकार कर लेता है। 

     इस दुनियां में तुम्हें दो तरह के मदद करने वाले लोग मिलेंगे एक वे जो सिर्फ तुम्हारा शोषण करने के लिए, तुम्हें इस्तेमाल करने के लिए मदद करेंगें और दूसरे वे जो तुम्हें और पवित्र करने के लिए, और भरने के लिए तुम्हारी मदद करेंगे। उन्हें पहचानना तुम्हारी जिम्मेदारी है और तुम उन्हें पहचान सकती हो, इतनी रौशनी परमात्मा ने तुम्हें दी है। इसलिए फिकर न करो! कहीं कोई गुस्सा न कर जाय, कहीं कोई रुठ न जाए! इस चिंता में न पड़ो। 

https://www.paltuji.com
https://www.paltuji.com 
     जीवन बहुत छोटा है, इसे यूं ही लोगों को मनाने में न गंवाओं। इसे जिओ पल-पल जिओ। अगर कोई पवित्र ह्रदय से कुछ देदे तो उसे स्वीकार कर लो। और यदि कोई फुसलाने के इरादे से दे तो तक्षण इंकार कर दो। मैं चाहता हूं तुम्हारी आंखें एक्सरे की किरण की तरह लोगों के भीतर देखना शुरूं कर दें ताकि तुम्हें कोई धोखा न दे सके। क्योंकि तुम्हारे जीवन में संघर्ष बहुत है, बहुत से रास्ते ऐसे हैं जिन्हें तुम्हें सिर्फ अकेले ही तय करना है, जहां न कोई संगी होगा न साथी होगा।

https://www.paltuji.com
https://www.paltuji.com 
1. जो सही होता है वह गलत लोगों को कभी नहीं पता चलता है! 2. गुस्से से दूर रहो, गुस्सा हमेशा अपना ही नुकसान करता है।

Previous
Next Post »