VIVAHIT PURUSON KE LIYE RAMBAAN NUSKHA. विवाहित पुरुषों के लिए रामबाण नुश्खा, जानें स्त्री का.....!

विवाहित पुरुषों के लिए रामबाण नुश्खा, जानें स्त्री का किस दिशा में सिर रखकर मैथुन करने से मिलता है लाभ! 

https://www.paltuji.com
Practical life 
     प्रत्येक स्त्री के शरीर में किसी न किसी सत्व अर्थात 'गुंण, की अधिकता अवश्य ही होती है। जिस गुण की अधिकता ज्यादा होती है, उसी के अनुरूप वह स्त्री वैसा ही व्योहार करती है। जो पुरुष अपनी सहयोगिनी के गुंण को ठीक से नहीं पहचान पाते, उन्हें उसे संतुष्ट रखने में बड़ा ही संघर्ष करना पड़ता है। अगर आप भी कर रहे हैं पत्नी को संतुष्ट करने के लिए संघर्ष तो पहले जान लीजिये उसके भीतर किस गुंण की अधिकता है अर्थात अपकी पत्नी किस स्वभाव से सबसे ज्यादा प्रभावित है।


https://www.paltuji.com
Practical life 
     काम-शास्त्र पर सर्वाधिक शोध करने वाले विद्वानों ने स्त्रियों के कई गुंण 'टाइप, बताएं हैं। जिनमें देव गुण, मुनि गुंण, राक्षस गुंण आदि प्रमुख हैं। वात्स्यायन ने इन्हें अन्य नामों के माध्यम से समझाया है। स्त्रियों की पहचान के लिए यहाँ कुछ गुणों के बाबत बताया गया है जिससे आप बड़ी आसानी से अपनी सहयोगिनी के स्वभाव की पहचान कर पाएंगें! और बडे़ छोटे-छोटे उपाय करके उसके ह्रदय में सदा-सर्वदा के लिए अपना स्थान बना पाएंगें। 

https://www.paltuji.com
Practical life 
देव गुंण :

     देव गुंण से प्रभावित स्त्री का रंग गोरा, चंद्रमा की आभा के समान उज्ज्वल, आकर्षक और रूपवान होता है। यह बहुत कम ही मौकों पर क्रोध करती है। इसका मन देवताओं की भांति पवित्र होता है, इसीलिए इसे देवगुंण वाली कहा जाता है। यह जिससे प्रेम करती है, उसे स्यमं के प्रांणों से भी अधिक चाहती है। यदि आपका इस गुंण वाली स्त्री से विवाह हुआ है या होने वाला है तो उसके साथ काम संबंध बनाते समय उसका सिरहाना पूर्व की दिशा में करके ही संबंध बनाएं। ऐसा करने से वह सर्वदा आपसे स्नेह और प्रेम करती रहेगी। 


https://www.paltuji.com
Practical life 
मुनि गुंण :

     इस गुंण वाली स्त्री का रंग-रूप कैसा भी हो सकता है, लेकिन इसके भीतर अपनेपन की भावनाएं बहुत प्रगाढ़ होती हैं। यह स्त्री मां की तरह सभी को प्रेम करती है और अपनों की रक्षा के लिए किसी भी सीमा तक जा सकती है। यदि इस गुंण वाली स्त्री आपकी जीवनसाथी बनने जा रही है या बन चुकी है, तो उसे सदा-सदा के लिए अपने बाहुपाश में बांधे रखने के लिए आप जब भी उससे मैथुन करें तो उसका सिर उत्तर की दिशा में अवश्य कर दें। ऐसा करने से आप अपनी सहयोगिनी की निगाह में सदा-सर्वदा के लिए एक खास व्यक्ति बन जांएंगें और वह स्वप्न में भी किसी अन्य से काम-संबंध न बना सकेगी। 


https://www.paltuji.com
Practical life 
राक्षस गुंण :

     इस गुंण की अधिकता जिन स्त्रियों में होती है वे जब हंसती हैं तब उनका स्वरूप बहुत भयंकर मालुम पड़ता है, ऐसा लगता है कि वे मुस्कुरा नहीं बल्कि डरा रहीं हैं। ऐसी स्त्रियों के बाल ऊपर की ओर उठे हुए बताए गए हैं। इन्हें माँसाहारी भोजन अत्यधिक प्रिय होता है और यह मदिरापान करने में भी परहेज नहीं करतीं हैं। यदि राक्षस गुंण वाली स्त्री आपके जीवन में है महत्वपूर्ण तो उसके साथ जब भी संभोग करें तो उसका सिर नैऋत्य कोंण अर्थात  'Southwest direction, में करना न भूलें। इस दिशा में सिर रखकर मैथुन करने से वह स्त्री हमेशा आपके प्रभाव से बंधी रहेगी और उसे अन्य कोई भी पुरूष आकृष्ट न कर पायेगा। 

https://www.paltuji.com


Previous
Next Post »