आधी रात को शमशान जाने से भी नहीं लगेगा 'डर, अगर करेंगे यह काम! Practical life.

आधी रात को शमशान जाने से भी नहीं होंगें 'भयभीत, अगर करेंगे यह काम!
https://www.paltuji.com
https://www.paltuji.com 
मित्रों, भय मनुष्य की स्वाभाविक प्रवृत्ति है, लेकिन मनुष्य कभी-कभी स्वाभाविकता से अधिक भी डरने लगता है। भय जब बिना किसी कारण के अकारण ही भयभीत करने लगता है तब इस अवस्था को ठीक नहीं  समझना चाहिए। 

जब इन निम्न में से कोई भी लक्ष्ण द्रष्य होंने लगते हैं तब भी यह सामान्य अवस्था नहीं होती है। 

1.    यदि रात गहन निद्रा की अवस्था में भयभीत करने वाले स्वप्न आते हों, निद्रा भंग हो जाती हो, निद्रा टूटने पर बहुत पसीना आता हों तो समझना यह सामान्य अवस्था नहीं है। 

2.     डरावनी आकृतियाँ दिखाई देती हों या कोई वृक्ष आदि की परछाई किसी भूत-प्रेत आदि की भांति नजर आती हो तो यह सब सामान्य नहीं होता है। 

3.     यदि प्रतिपल मन में किसी न किसी अनहोनी की आशंका बनीं रहती हो, किसी दुखद घटना का आभास बना रहता हो, कोई मेरी हत्या कर देगा ऐसा विचार बार-बार आता हो तो भी टालने की कोशिश नहीं करनी चाहिए।

4.     अंधेरे में जाने से भय लगता हो, एकांत में भय लगता हो, अकेले शयनकक्ष में प्रांण कांपने लगते हों या फिर अचानक घर में आग आदि लग जाती हो, तो ऐसी परिस्थितियां अकारण नहीं होती हैं। 
https://www.paltuji.com
https://www.paltuji.com 
      दोस्तों, इस जगत में अकारण कुछ भी नहीं होती है! छोटे से छोटा अणु भी अपने भीतर हजार-हजार कारण छुपाये बैठा है। इसलिए इन सब लक्ष्णों के कारण न बताकर यहाँ आपके लिए उपाय प्रस्तुत किया जा रहा है। यदि उपरोक्त लक्ष्णों में से आपके भीतर भी कोई लक्षण वर्तमान हैं तो यह उपाय करने के बाद आप निश्चित ही इन परेशानियों से बाहर हो जायेंगें।

उपाय:

       इस उपाय के लिए आप शनिवार के दिन का चयन करें, शनिवार के दिन जब सूर्य उग आये तब 'सवा पाव, काले तिल, काले कपड़े में बांध लें और सात बार अपने ऊपर से घुमाकर किसी नदी में प्रवाहित कर आंयें! उसी रात्रि में एक तांबे के लोटे में स्वच्छ जल भर लें और उसी जल में एक गुड़हल का पुष्प और चुटकी भर गुड़ डाल दें, इतना करने के बाद वह लोटा अपने सिरहाने रखकर सो जायें! प्रातःकाल में उठकर स्नान करें और उस लोटे में भरा जल एवं पुष्प आदि समाग्री सूर्य देवता के सम्मुख खड़े होकर अर्पित कर दें!
      ऐसा करने से उपरोक्त सभी बाधाएं सदा-सदा के लिए समाप्त हो जाती हैं। 

https://www.paltuji.com
https://www.paltuji.com

https://www.paltuji.com


      
Previous
Next Post »