"अद्वैत की खोज"



🔰🔰

          "अद्वैत की खोज" पागलपन की खोज है!
अद्वैतवाद एक ऐसी स्थित है, जैसी किसी पागल की होती है!

          अद्वैतवाद की ठीक-ठीक व्याख्या यह है कि जहाँ बुद्धि का समूल नाश हो जाता है, जहाँ दिन को दिन और रात को रात कहने की सामर्थ्य खो जाती है, जहाँ यह भी समझ नहीं आता कि किसे जीवन कहें और किसे मृत्यु कहें!

          अद्वैतवादी के लिए, द्वैत समाप्त नहीं हो जाता, सिर्फ बुद्धि समाप्त हो जाती है! इसलिए वह जो भी कहता है, वह करीब-करीब पागलों जैसा ही होता है! क्योंकि पागलों के पास भी बुद्धि नहीं होती!

सावधान :
अद्वैत, की साधना से बचना! वरन् बुद्धि नष्ट होगी और तुम नाहक ही पागलों की भांति भटकोगे!!



https://paltuji.com
practical life

                                             
https://www.paltuji.com/          
Oldest