अन्न नहीं 'इंसाफ, गरीब का भोजन है।

        पिछले चुनाव में बीजेपी पार्टी की ओर से चुनाव आयोग से शिकायत की गई मुस्लिम महिलाओं के बुर्के को लेकर। शिकायत में मुस्लिम महिला...
Read More

गरीब धार्मिकता मनुष्य जितना गरीब होगा, बेरोजगार होगा, अशिक्षित होगा, असहाय और पिछड़ा होगा उतनी ही

धार्मिकता, आस्तिकता, नैतिकता, नियम-सयंम यह सब गरीबी, बेरोजगारी, अशिक्षा व पिछड़ेपन की उपज है।  practical life         मनुष्य जित...
Read More

माया क्या है? यह जानने से पहले हमें यह जानना आवश्यक है कि द्रश्य क्या है। क्योंकि यह प्रश्न आंख से संबंधित है।

माया क्या है? यह जानने से पहले हमें यह जानना आवश्यक है कि द्रश्य क्या है। क्योंकि यह प्रश्न आंख से संबंधित है।            अगर हम पूछें...
Read More

जीवन मांसाहार की बुनियाद पर ही निर्भर है।

जरा सजगता से, जरा विवेक से, जरा होश से, जरा गहराई से विचार करें, तो मालुम होगा यह जीवन मांसाहार की बुनियाद पर ही  निर्भर है। pract...
Read More

संवेदनहीन व्यवस्थाएं।

      भस्टाचार, अपराध, अन्याय, लूट, हत्या, बलात्कार। यह सब देश व समाज की व्यवस्थाओं, नीतियों व दंडनीतियों पर निर्भर है। व्यवस्थाएं ऐसी भी...
Read More

"जिस मरनी से जग डरै, मेरो मन आनंद। कब मरिहौं कब पाईहौं, पूरन परमानंद"!!

              "नानक दुखिया सब संसारा"       यह गुरु नानक देवजी का वचन है। "नानक दुखिया सब संसारा"।।     ...
Read More

Kya is dharti par Vempayrs ka vajood hai. क्या इस धरती पर भी बेम्पायर्स का वजूद है?

बे म्पायर, एक ऐसी कल्पना की दुनियां, एक ऐसा सपनों का जगत जहाँ न नैतिकता है, न नीति-नियम हैं, न रिस्ते-नाते न थाना-पुलिस है और जहाँ न अदाल...
Read More